यूपी बाल श्रमिक विद्या योजना|UP Bal Shramik Vidya Yojana

By | August 16, 2020

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने बाल श्रम दिवस के मौके पर यूपी बाल श्रमिक विद्या योजना की की है| इस बाल श्रमिक विद्या योजना के अंतर्गत कामकाजी बच्चों को स्कूल भेजने के लिए सरकार की तरफ से प्रेरित किया जाएगा| मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी का कहना यूपी में बहुत से ऐसे बच्चे हैं जो श्रमिक का काम करते हैं| शिक्षा प्राप्त नहीं करते ना ही स्कूल जाते हैं| इन्हीं कामकाजी बच्चों को इस स्कूल में भेजने के लिए उत्तर प्रदेश श्रमिक विद्या योजना 2020 का गठन किया गया है|

इन्हीं बाल श्रमिक बच्चों को स्कूल आने पर योगी सरकार की तरफ से वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी| इस योजना के तहत कामकाजी बच्चों को स्कूल भेजने के लिए सरकार द्वारा 1200 प्रति माह तक का सालाना अनुदान देगी| यूपी बाल श्रमिक विद्या योजना का मुख्य उद्देश्य से यह है कि जो भी यूपी के बच्चे बाल श्रमिक का काम करते हैं|योगी जी का कहना है कि अब उन बच्चों को स्कूल में भेजना चाहिए ताकि उनका भविष्य उज्जवल हो सकेता|वह पढ़ लिखकर आगे बढ़ सके इसीलिए सरकार की तरफ से इन बच्चों को प्रोत्साहन राशि दी जा रही है|

उत्तर प्रदेश बाल श्रमिक विद्या योजना 2020

सीएम योगी जी ने कहा कि 8 से 18 वर्षों तक के उन सभी बच्चों को जिन्हें स्कूल में होना चाहिए लेकिन पारिवारिक परिस्थितियों के कारण अपने परिवार के भरण-पोषण के लिए बाल श्रम करना पड़ता है ऐसे बच्चों के लिए यह योजना बड़ी लाभदायक होगी|सरकार श्रमिक विद्या योजना द्वारा 1200 प्रति माह तक का सालाना अनुदान देगी| इसके अलावा कक्षा 8 ,9 और 10 पास करने वालों को 6000-6000 हजार रुपए की राशि अलग से दी जाएगी| सीएम योगी आदित्यनाथ ने बताया कि इस योजना के पहले चरण हर जिले में बच्चों 2000 हजार बच्चों का चयन किया जाएगा| इन बच्चों को स्कूल भेजने पर बालकों को 1000 रुपए प्रतिमाह और बालिकाओं को 1200 सो रुपए प्रतिमाह दिए जाएंगे|

UP Bal Shramik Yojana Highlights

योजना का नाम यूपी बाल श्रमिक विद्या योजना 2020
इनके द्वारा शुरू की गयी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी जी के द्वारा
लॉन्च की तारीक 12 जून 2020 को
लाभार्थी बाल श्रमिक बच्चों
उद्देश्य बाल श्रमिक बच्चों को स्कूल भेजने के लिए वित्तीय सहायता

बाल श्रमिक विद्या योजना के लाभ

  • इस योजना से बाल श्रमिक बच्चों को स्कूल जाने का मौका मिलेगा|
  • उन्हें सरकार की तरफ से वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी|
  • बाल श्रम बच्चों का जीवन स्तर ऊपर उठेगा|
  • सरकार श्रमिक विद्या योजना द्वारा 1200 प्रति माह तक का सालाना अनुदान देगी|
  • इसके अलावा कक्षा 8 ,9 और 10 पास करने वालों को 6000-6000 हजार रुपए की राशि अलग से दी जाएगी|

यूपी बाल श्रमिक योजना की पात्रता

  • आवेदक की आयु 8 से 18 वर्ष के बीच होनी चाहिए|
  • जिन बच्चों के माता-पिता या फिर दोनों की मृत्यु हो चुकी है भी इस योजना से जुड़ पाएंगे|
  • जिनके माता-पिता या दोनों स्थाई रूप से दिव्यांग या नारी से ग्रसित है|
  • बाल श्रमिक बच्चों को अधिक पात्रता दी जाएगी|

Bal Shramik Vidya Yojana डॉक्यूमेंट

  • आधार कार्ड|
  • मोबाइल नंबर|
  • पासपोर्ट साइज फोटो|
  • आय प्रमाण पत्र
  • बैंक अकाउंट खाते का नंबर

यूपी बाल श्रमिक विद्या योजना आवेदन कैसे करें

  • उत्तर प्रदेश बाल श्रमिक विद्या योजना पंजीकरण के लिए फार्म भरे जाएंगे
  • अभी इस योजना की घोषणा की गई है|
  • जल्द ही ऑनलाइन आवेदन एप्लीकेशन फॉर्म की प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी|
  • उसके बाद आपको जल्द ही उसका  लिंक उपलब्ध करवाया जाएगा|

यूपी टेलरिंग शॉप योजना

अक्सर पूछे गए प्रश्न उत्तर

यूपी बाल श्रमिक विद्या योजना 2020 क्या है

पारिवारिक परिस्थितियों के कारण अपने परिवार के भरण-पोषण के लिए बाल श्रम करना पड़ता है ऐसे बच्चों के लिए बाल श्रमिक विद्या योजना बनाई गई है|

उत्तर प्रदेश बाल श्रमिक विद्या योजना के अंतर्गत कितने पैसे मिलेंगे|

बालकों को 1000 रुपए प्रतिमाह और बालिकाओं को 1200 सो रुपए प्रतिमाह दिए जाएंगे|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *